सीरियस विषय पर सेंसिबल फिल्म है क्रेजी-4 : जयदीप सेन

-अजय ब्रह्मात्मज
राकेश रोशन अपने वादे पर अटल रहे। कृष की शूटिंग के दौरान उन्होंने अपने सहायक जयदीप सेन से वादा किया था कि वह उन्हें एक फिल्म निर्देशित करने के लिए देंगे। उन्होंने कृष से खाली होते ही नयी फिल्म की योजना बनायी और उसकी जिम्मेदारी जयदीप सेन को सौंपी। राकेश रोशन की कंपनी फिल्मक्राफ्ट की यह पहली फिल्म होगी, जिसे कोई बाहरी निर्देशक निर्देशित कर रहा है।
जयदीप सेन को फिल्म इंडस्ट्री में ज्यादातर लोग राजा सेन के नाम से जानते हैं। राजा ने सालों पहले एनआर पचीसिया के साथ फिल्मों की यात्रा आरंभ की। तब वह अपराधी फिल्म बना रहे थे और राजा उर्फ जयदेव सेन उसमें प्रोड्क्शन एसिस्टैंट थे। उसके बाद हैरी बावेजा, राज कंवर और मुकुल आनंद के साथ काम करने के पश्चात जयदीप सेन ने अपने दोस्त और डायरेक्टर चंदन अरोड़ा की सलाह पर राकेश रोशन से मुलाकात की। राकेश रोशन उन दिनों कृष की शूटिंग आरंभ करने जा रहे थे और एक सक्षम सहायक की तलाश में थे। यहां यह उल्लेख जरूरी होगा कि दिल्लगी में जयदीप सेन एक्टर-डायरेक्टर सनी देओल के एसोसिएट थे।
जयदीप सेन के शब्दों में, जब चंदन ने मुझे राकेश जी से मिलने की सलाह दी तो मैं थोड़ी दुविधा में था। उन दिनों मैं अपनी फिल्म की प्लानिंग कर रहा था। एक बार तो लगा कि फिर से एसिस्टैंट बनना होगा, लेकिन फिर मन में आया कि राकेश जी से सीखने का मौका मिलेगा। मैं उनकी फिल्म करण अर्जुन का जबरदस्त प्रशंसक हूं और उसे बार-बार देखता हूं। ऐसा संयोग देखिए अब उन्हीं के बैनर से मेरी अपनी फिल्म आ रही है।
क्रेजी- 4 के बारे में जयदीप बताते हैं, यह आइडिया राकेश जी का ही है। उन्होंने मुझे इसके बारे में बताया और मेरी प्रतिक्रिया मांगी। मुझे तो झट से फिल्म पसंद आ गयी। नए डायरेक्टर को इससे और अच्छा सेटअप क्या मिल सकता था? यह एक सीरियस विषय पर बनी सेंसिबल कॉमेडी फिल्म है। बहुत ही हल्के-फुलके तरीके से एक गंभीर बात कहने की कोशिश की गयी है। इसे मशहूर टीवी सीरियल ऑफिस ऑफिस के लेखक अश्विनी धीर ने लिखा है। इतनी अच्छी स्क्रिप्ट मिली मुझे और साथ ही चुनौती भी मिली कि मेरा काम उससे छोटा न हो।
जयदीप सेन अपनी फिल्म क्रेजी-4 को कॉमेडी से अधिक सैटॉयर मानते हैं। इसमें चार व्यक्तियों के जरिए समाज की विसंगतियों को देखने की कोशिश की गयी है। चार क्रेजी किस्म के व्यक्तियों की कहानी है, लेकिन हम फिल्म को देखते हुए सोचने पर मजबूर होंगे कि क्रेजी वे चारों जन हैं या हमारा पूरा समाज है? जयदीप सेन बताते हैं कि इसमें इरफान खान, अरशद वारसी, राजपाल यादव और सुरेश मेनन ने चार अलग-अलग स्वभाव के क्रेजी इंसानों की भूमिका निभायी है। उनकी केयरटेकर डॉ. सोनाली सान्याल की भूमिका में जूही चावला हैं। ये सभी मुंबई से दूर खंडाला के आसपास कहीं रहते हैं। एक बार डॉ. सान्याल उन्हें लेकर मुंबई आती हैं और फिर जो होता है. . . वही पूरी फिल्म है।
जयदीप सेन क्रेजी -4 को बासु चटर्जी और हृषीकेश मुखर्जी की कॉमेडी एवं हल्की-फुल्की फिल्मों की परंपरा में मानते हैं। जयदीप की राय में, वैसी फिल्मों के दर्शक आज भी मौजूद हैं। दर्शकों की रुचि बदली है, लेकिन वह टेक्नीक और दूसरी खूबियों के मामले में, कंटेंट के मामले में हमारे दर्शकों को आज भी दिल छू लेने वाली कहानियां अच्छी लगती हैं। नए जमाने के हिसाब से हमने क्रेजी-4 का पेस थोड़ा फास्ट रखा है और हां, इसमें राखी सावंत एवं शाहरुख खान के आइटम सांग भी हैं।

Comments

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

तो शुरू करें