बॉक्‍स ऑफिस : जनवरी 2014

इस साल से बॉक्‍स ऑफिस का यह कॉलम अब हर महीने के अंत में प्रकाशित होगा। ताकि सनद रहे और वक्‍त जरूरत काम आए। 
बॉक्‍स ऑफिस
-अजय ब्रह्मात्‍मज
2 जनवरी 2014
स्वागत 2014

2013 हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के लिए उल्लेखनीय कलेक्शन और मुनाफे का साल रहा। पिछले साल आठ फिल्में 100 करोड़ क्लब में पहुंची। 2012 की तुलना में संख्या में भले ही एक की कमी आ गई, लेकिन कुल कलेक्शन में 2013 आगे रहा। न भूलें कि पिछले साल दो फिल्मों ने 200 करोड़ से अधिक का कलेक्शन किया। ‘धूम 3’ ने कलेक्शन के चौतरफा नए रिकार्ड स्थापित किए। फिल्म के प्रति दर्शकों के उत्साह से लग रहा है कि ‘धूम 3’ 300 करोड़ का आंकड़ा छूने वाली पहली हिंदी फिल्म हो सकती है। जिस रफ्तार से फिल्मों का बिजनेस बढ़ रहा है उससे 2014 की उम्मीदें बढ़ गई हैं। इधर हिंदी प्रदेशों में नए सिनेमाघर आए हैं। टिकटों के दर में भी बढ़ोत्तरी हुई है। कुछ सालों में फिल्मों के बिजनेस में उत्तर भारत की उल्लेखनीय हिस्सेदारी होगी। तब फिल्मों के कंटेंट में भी उत्तर भारत की तरफ अधिक झुकाव होगा। इसके लक्षण दिखने लगे हैं। 2014 में भी फिल्मों के बिजनेस और कलेक्शन में तीनों खान की भूमिका महत्वपूर्ण रहेगी। इस साल कुछ नए कलाकार 100 करोड़ क्लब में शामिल हो सकते हैं।
पिछले हफ्ते की एनीमेशन फिल्म ‘महाभारत’ के प्रति दर्शक उदास रहे। नए साल के जश्न ने भी कलेक्शन प्रभावित किया,जो दर्शक सिनेमाघरों में गए भी उन्होंने ‘धूम 3’ देखना पसंद किया।

9 जनवरी 2014
अभी तक टिकी है ‘धूम 3’

    पिछले हफ्ते रिलीज हुई ‘मिस्टर जो बी करवाल्हो’ का कलेक्शन उल्लेखनीय नहीं रहा। ‘शोले 3डी’ में दर्शकों ने थोड़ी रुचि दिखाई। इसका वीकएंड कलेक्शन लगभग 6 ़5 करोड़ रहा। यह कलेक्शन अपेक्षा से काफी कम है। ट्रेड पंडितों के मुताबिक टीवी पर ‘शोले’ के नियमित प्रसारणों से दर्शकों का उत्साह ‘शोले 3डी’ के प्रति परवान नहीं चढ़ा। अभी तक ‘धूम 3’ ही बाक्स आफिस पर कलेक्शन के कीर्तिमान स्थापित कर रही है। इस सोमवार को फिल्म ने 500 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया। ‘धूम 3’ का यह आंकड़ा देश-विदेश के कलेक्शन का जोड़ है। उम्मीद की जा रही है कि ‘धूम 3’ भारत में 300 करोड़ का जादुई आंकड़ा छू कर सब से आगे निकल जाएगी।

16 जनवरी 2014
‘यारियां’ पसंद, ‘डेढ इश्किया’ नापसंद

    पिछले हफ्ते रिलीज हुई ‘यारियां’ और ‘डेढ इश्किया’ की सराहना और कलेक्शन के उलट-फेर से चकित हैं। दिव्या खोसला कुमार की ‘यारियां’ साधारण फिल्म रही। उल्लेखनीय समीक्षकों ने इस फिल्म की तारीफ नहीं की, लेकिन बाक्स आफिस पर फिल्म का कलेक्शन उल्लेखनीय रहा। निर्देशक और कलाकारों के नएपन के बावजूद इस फिल्म ने पहले वीकएंड में 16 करोड़ से अधिक का कलेक्शन किया। दूसरी तरफ समीक्षकों की भूरी-भूरी प्रशंसा पाने के बावजूद  ‘डेढ इश्किया’ दर्शकों को अधिक पसंद नहीं आई। इस फिल्म का पहले वीकएंड का कलेक्शन बमुश्किल 11 करोड़ पार कर सका। दर्शकों और समीक्षकों की पसंद-नापसंद का यह अंतरविरोध साल में कई बार देखने को मिलता है। ‘यारियां’ के अपेक्षाकृत बेहतरीन कलेक्शन के बावजूद यह सच है कि ‘डेढ इश्किया’ समय के साथ महत्वपूर्ण फिल्म साबित होगी।

23 जनवरी 2014
नहीं चलीं तीनों फिल्में

    पिछले हफ्ते रिलीज हुई ‘कर ले प्यार कर ले’, ‘पराठे वाली गली’ और ‘मिस लवली’ का लगभग एक सा हाल रहा। तीनों ही फिल्में बाक्स आफिस पर लुढक़ गईं। ‘मिस लवली’  को समीक्षकों ने जरूर सराहा, लेकिन आम दर्शकों ने नवाजुद्दीन सिद्दिकी की इस फिल्म में रुचि नहीं ली। ‘कर ले प्यार कर ले’ और ‘पराठे वाली गली’ से ट्रेड पंडितों को कोई अपेक्षा नहीं थी। निर्माता सुनील दर्शन अपने बेटे शिव दर्शन की फिल्म ढंग से नहीं पेश कर सके। शिव दर्शन के शोकेस के तौर पर बनी ‘कर ले प्यार कर ले’ ने निराश किया। ‘पराठे वाली गली’ में दर्शकों ने घुसना पसंद नहीं किया। तीनों ही फिल्मों के शोज दर्शकों के अभाव में रद्द किए गए। वीकएंड में तीनों फिल्मों का कुल बिजनेस 2 करोड़ का आंकड़ा भी नहीं पार कर सका। अब गणतंत्र दिवस से पहले रिलीज हो रही ‘जय हो’ का इंतजार है।

30 जनवरी 2014
‘जय हो’ का औसत कलेक्शन

    पिछले हफ्ते रिलीज हुई सलमान खान की ‘जय हो’ के बाक्स आफिस व्यवहार पर बहसें चल रही हैं। कुछ ट्रेड पंडितों का मानना है कि सलमान खान की नरेन्द्र मोदी से हुई मुलाकात और अखिलेश यादव के आमंत्रण का फिल्म के बिजनेस पर असर पड़ा। इन पंडितों के मुताबिक सैफई और अहमदाबाद जाना सलमान खान के लिए नुकसान का सौदा साबित हुआ। कहा जा रहा है कि इससे उनके पारंपरिक (मुसलमान) दर्शक नाराज हुए। तो क्या सलमान खान की कामयाब फिल्मों का कारण यही पारंपरिक दर्शक हैं। एक तरह से ट्रेड पंडित सलमान खान के स्टारडम को बचाए रखने का यह तोड़ निकाल रहे हैं। सच यह है कि ‘जय हो’ दर्शकों को पसंद ही नहीं आई। इसी वजह से शुक्रवार को इस फिल्म का कलेक्शन 18 करोड़ से कम रहा। हालांकि शनिवार और रविवार को थोड़े दर्शक बढ़े, फिर भी वीकएंड कलेक्शन लगभग 60 करोड़ रहा। सलमान खान की फिल्म के लिए यह कलेक्शन औसत माना जाएगा। याद करें तो रणवीर सिंह की ‘ ़ ़ ऱाम-लीला’ ने भी शुक्रवार को ‘जय हो’ के बराबर ही कलेक्शन किया था। इस लिहाज से सलमान खान स्टारडम की सीढ़ी में कुछ पायदान नीचे उतर आए हैं।

Comments

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

तो शुरू करें