रा.वन की जानकारी शाहरूख खान के ट्विटों से

- अजय ब्रह्मात्‍मज  

फिल्म बनाना प्रेम करने की तरह है..फन ़ ़ ़एक्साइटिंग ़ ़ ़ सेक्सी ़ ़ ़ और आपको मालूम नहीं रहता कि आखिरकार वह क्या रूप लेगा? अगर फिल्म रा.वन हो तो इन सारे तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है और उसी अनुपात में बढ़ती है हमारी जिज्ञासा। शाहरुख खान की रा.वन निश्चित ही 2010 की महत्वाकांक्षी फिल्म होगी। अनुभव सिन्हा के निर्देशन में बन रही इस फिल्म के हीरो ़ ़ ़ ना ना 'सुपरहीरो' हैं शाहरुख खान।

कहते हैं शाहरुख खान अपने बेटे आर्यन, उसके दोस्तों और उसकी उम्र के तमाम बच्चों के लिए इस फिल्म का निर्माण कर रहे हैं। वे देश के बच्चों को 'देसी सुपरहीरो' देना चाहते हैं। शाहरूख खान ट्विटर पर लिखते हैं कि जब वे छोटे बच्चे थे तो बड़ी बहन के टाइट्स के ऊपर अपना स्विमिंग सूट पहन कर गर्दन में तौलिया बांध कर उड़ने की कोशिश करते थे। उस समय वे निश्चित ही अपनी चौकी, खाट या पलंग से फर्श पर गिरे होंगे।

चालीस सालों के बाद उनके बचपन की ख्वाहिश बेटे की इच्छा के बहाने उड़ने जा रही है। अनुभव सिन्हा के निर्देशन में विदेशी तकनीशियनों की मदद से यह मुमकिन हो रहा है। साल भर पहले तक अनुभव सिन्हा निश्चित नहीं थे कि रा.वन कब शुरू होगी? माय नेम इज खान की रिलीज के पहले अचानक किंग खान ने फैसला सुनाया कि वे पहले रा.वन की शूटिंग करेंगे। सारे समीकरण बदल गए। पुरानी भरोसेमंद दोस्त फराह खान से नाराजगी की खबर आई और अनुभव सिन्हा की रा.वन के प्रति आशंकाएं जाहिर की गई।

हिंदी फिल्मों के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि फिल्म का हीरो स्वयं फिल्म के बारे में लगातार जानकारियां दे रहा है। शाहरूख खान लगातार ट्वीट कर रहे हैं। हालांकि ट्वीट के 140 अक्षरों में छिटपुट और बिखरी जानकारियों से किसी निष्कर्ष या धारणा पर पहुंचना आसान नहीं है, लेकिन झलक तो मिल ही जाती है। जरूरी है कि आप ध्यान से पढ़ें, एक साथ पढ़ें और पंक्तियों और संदेशों के बीच के मनोभावों को पढ़ सकें।

सब से पहले यह समझ लें कि रा.वन अलग फिल्म है। मणि रत्‍‌नम की अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय की रावण से इसका कोई लेना-देना नहीं है। शाहरुख की एक ट्वीट के अनुसार रा.वन वास्तव में 'रैंडम एक्सेस वर्जन वन' का शार्ट कोड है। शाहरुख इसमें सुपरहीरो बने हैं। वे दुनिया को बचाते हैं। दुनिया को बचाने के लिए वे कूदते-फांदते और उड़ते हैं। एक बार इस फिल्म का कास्ट्यूम पहन लेने के बाद शाहरुख खा-पी नहीं सकते और न ही नित्य क्रियाओं से निवृत हो सकते हैं। उन्होंने सेट पर अपनी मजबूरी को नियम बना दिया। डायरेक्टर समेत यूनिट के सभी सदस्यों का खाना-पीना बंद हो गया। शाहरुख ने ट्वीट किया- फिल्म मेकिंग टीम वर्क है, लेकिन यह डेमोक्रेटिक नहीं है। हीरो ही अगर प्रोड्यूसर हो तो वह किसी प्रकार की मनमानी कर सकता है, लेकिन यह मनमानी नहीं, वास्तव में मौज-मस्ती है। एक मुश्किल और चैलेंजिंग फिल्म को सहज तरीके से शूट करने के लिए आवश्यक है कि सेट का माहौल हल्का-फुल्का और जोश से भरा हो।

अपनी एनर्जी के लिए विख्यात शाहरुख खान ने रा.वन की शूटिंग बीस मार्च से आरंभ की। याद करें तो इसी वक्त आईपीएल आरंभ हुआ था। उनकी टीम कोलकाता नाइट राइडर्स ने कुछ बेहतर और कुछ बुरे मैच खेले और फाइनल से पहले बाहर हो गई। रेड चिलीज के सीईओ बॉबी चावला स्ट्रोक के शिकार हुए और कोमा में चले गए। शाहरुख खुद शूटिंग के दौरान ही गोवा, मुंबई, कोलकाता के दौरे करते रहे और बीच में दो दिनों का समय निकाल कर मलेशिया भी गए। अभी उनकी बीवी गौरी खान न्यूयार्क में हैं। वे अपने बच्चों आर्यन और सुहाना को भी संभालते हैं। वे ट्वीट करते हैं कि मैं जल्दी से घर लौट कर उनके साथ खेलना और सोना चाहता हूँ। साफ झलकता है कि शाहरूख हम सभी की तरह साधारण इंसान हैं और उनकी चिंताएं किसी मध्यवर्गीय पिता जैसी हैं।

..और जैसे कोई कसर बाकी थी कि उन्हें भारी जुकाम हो गया। शाहरुख खान ने ट्विटर पर लिखा कि सुपरहीरो को जुकाम है, लेकिन पर्दे पर थकान नहीं दिखनी चाहिए। पता नहीं चलना चाहिए कि शॉट देते समय हीरो बुखार में तप रहा था। एक और ट्वीट: ऊपर से एक्शन के सीन ़ ़ ़ हवा में लटक कर करतब दिखाने के शॉट ़ ़ ़ और उफ्फ घुटने का दर्द!

घुटने और कंधे का आपरेशन करवा चुके शाहरुख खान ने दो सालों के बाद इस फिल्म में एक्शन के लिए जरूरी उछल-कूद की। अपनी क्रिकेट टीम के फिजियो एंड्रयू और ट्रेनर एड्रियन से घुटने का उपचार करवाया, लेकिन एक्शन दृश्यों में तो शरीर का हर जोड़ हिल जाता है। पैंतालीस की उम्र में हवा में लटक कर करतब दिखाने के पीछे एक ही लगन और एक ही जोश है कि जब आडिएंस फिल्म देखने आए तो रोमांचित हो। उसे भरपूर मजा आए और हैरतअंगेज कारनामों और करतबों से वह चौंके।

शाहरुख मानते हैं कि रा.वन का असली स्टार वीएफएक्स है। कारनामों और करतबों को वीएफएक्स से ही हैरतअंगेज बनाया जाएगा। सौ-डेढ़ सौ दिनों की शूटिंग के बाद उससे ज्यादा दिन स्पेशल इफेक्ट और इमेज गढ़ने में लगेंगे। प्रभावशाली वीएफएक्स के लिए उनकी रेड चिलीज की अपनी टीम के साथ हालीवुड के विशेषज्ञ भी काम कर रहे हैं। हालीवुड के विशेषज्ञों की खासियत है कि वे स्टारों के दबाव में नहीं आते और 'चला लेंगे' कह कर किसी शॉट से समझौता नहीं करता। शाहरुख मजेदार ट्वीट करते हैं: स्टार नाम के चिड़िया की जान जाए तो जाए, दर्शकों को सिनेमा का खिलौना मिलना चाहिए। गर्मी के इस मौसम में कास्ट्यूम और मास्क पहन कर घंटों किसी सीन को तेज रोशनी में शूट करने की तकलीफ कोई स्टार ही समझ सकता है, लेकिन इस तकलीफ का यही मजा है कि दर्शकों की तालियां मिलती हैं और फिल्म चल गई तो जेब भी भरती है। और मालूम है आप को ़ ़ ़ रा.वन के सुपरहीरो को जुकाम हो गया है। जिसे गोली नहीं भेद सकती, वह छींकों से परेशान है। कैसी विडंबना है?

Comments

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

तो शुरू करें