रोज़ाना : सबकी निगाह में कंगना

रोज़ाना
सबकी निगाह में कंगना
-अजय ब्रह्मात्मज

पिछले हफ्ते भर से सोशल मीडिया पर कंगना रनोट के इंटरव्यू के वीडियो शेयर किए जा रहे हैं। लगभग सभी एंकर उनसे रितिक रोशन और फ़िल्म इंडस्ट्री के दूसरे पुरुषों के साथ रहे संबंधों और विवादों के बारे में उनसे पूछ रहे हैं। कंगना भी बेझिझक सब कुछ बता रही हैं। उनसे खोद-खोद कर पूछा गया और उन्होंने खोल-खोल जार बताया।अब तो वह खुलेआम नाम ले रही हैं। मुमकिन है संबंधित पुरुष सकते में हों। या वेबकुछ और प्लान कर रहे हों। सोशल मीडिया पर कंगना को जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। खासकर लड़कियां और औरतें उनकी हिम्मत की तारीफ कर रही हैं। भारतीय समाज में में जब भी कोई औरत हिम्मत कर अपने शोषण और दमन के किस्से उजागर करती है तो समाज का बड़ा तबका उसे सहानुभूति के साथ सुनता है। समर्थन देता है और चाहता है कि उक्त औरत को न्याय मिले। अधिकांश मामलों में कुछ दिनों के शोर-शराबे के बाद सब कुछ शांत हो जाता है। लोग भूल जाते हैं। कंगना के मामले थोड़ा अलग है...
कंगना हिमाचल प्रदेश के एक छोटे शहर से आई महत्वाकांक्षी लड़की हैं। उन्होंने अपने दम पर एक जगह हासिल की है। इस कामयाबी में उन्होंने अपनी भूलों और फैसलों से सीखा है। उन्होंने अपने समय के दिग्गजों से मुठभेड़ की है। अपने तर्कों से वह मजबूती के साथ मुकाबला करती रही हैं। फ़िल्म इंडस्ट्री में बाहर से आई प्रतिभाओं को कठिन परीक्षाओं और चुनौतियों से गुजरना पड़ता है। अगर बाहर से आई प्रतिभा लड़की हो तो मुश्किलें और ज्यादा हो जाती हैं। उनके मानसिक और शारीरिक शोषण के किस्से सुनाई पड़ते हैं। कंगना ने भी बहुत कुछ झेल है। कंगना और दूसरी लड़कियों में यह फर्क है कि कंगना चुप नहीं रहीं। उन्होंने हिम्मत दिखाई और अपनी बदनामी और लोक-लाज की परवाह किये बिना सं कुछ जाहिर किया। आज वह अभी की निगाह में हैं। ज्यादातर उनसे खुश हैं तो कुछ सवाल भी कर रहे हैं।

एक तो यही कहा जा रहा है कि ठीक 'सिमरन: की रिलीज के पहले ही उन्हें यह सब बताने की ज़रूरत क्यों पड़ी? वह बहुत मासूमियत के साथ कहती हैं कि उन्होंने पूछे गए सवालों के जवाब दिए। गौर करें तो एक रवीश कुमार ने ही केवल उनके व्यक्तित्व और संघर्ष को सवालों से रेखांकित किया। बाकी सभी ने  गंभीरता के साथ गड़े मुर्दे उखाड़े। कंगना जवाब देने की रौ में बह गयीं। उन्होंने कुछ नए भेद खोले और पुरानी जानकारियों को नया विस्तार दिया। आलोचकों का मानना है कि अपनी फिल्म के प्रचार के लिए ही कंगना यह सब कर रही हैं। इसी बहाने वह चौतरफा चर्चा में आ गईं। लेकिन गौर करें तो इस चर्चा में उनकी फिल्म 'सिमरन' गाउन हो गयी है। सभी उनके इंटरव्यू के वीडियो चटखारे लेकर देख-सुन रहे हैं। बात रहे हैं कि देखो कंगना क्या-क्या बोल रही है? उनकी रुचि :सिमरन' में नहीं है। सोशल मीडिया पर प्रशंसक के तौर पर उबरे समर्थक अगर दर्शक में तब्दील हो जाएं तो कंगना की फ़िल्म को जबरदस्त लाभ हो सकता है। सच यह है कि ऐसा हो नहीं पता। इंटरव्यू के वीडियो के दर्शक फ़िल्म के दर्शक नहीं हो पाते। सीधी सी बात है कि वे वीडियो मुफ्त में देख रहे हैं,जबकि फ़िल्म देखने के लिए उन्हें पैसे खर्च करने होंगे।

Comments

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

तो शुरू करें