सोनाक्षी सिन्‍हा से अजय ब्रह्मात्‍मज की बातचीत


-अजय ब्रह्मात्मज

    एक ‘जोकर’ को भूल जाएं तो सोनाक्षी की अभी तक रिलीज हुई हर फिल्म ने बाक्स आफिस पर अच्छी कमाई की है। ‘दबंग’, ‘राउडी राठौड़’ और ‘सन ऑफ सरदार’ इन तीनों फिल्मों ने 100 करोड़ से अधिक का कारोबार किया। अब उनकी ‘दबंग 2’ आ रही है। इस फिल्म के वितरण अधिकार ही 180 करोड़ में बेचे गए हैं। इसकी कामयाबी भी सुनिश्चित है। लगातार सफल फिल्में दे रही सोनाक्षी सिन्हा सफलता के नए अध्याय लिख रही हैं। इस कामयाबी के बावजूद शत्रुघ्न सिन्हा की बेटी सोनाक्षी सिन्हा में गुरूर नहीं आया है। वह अब भी पहली फिल्म के समय की की तरह सहज, चुलबुली और सामान्य हैं। दिन हो या रात मुंबई हो या बंगाल  ़ ़ ़ हर समय हर जगह अपनी फिल्मों की शूटिंग में मशगूल सोनाक्षी अपनी आगे-पीछे की पीढ़ी की हीरोइनों के लिए ईष्र्या का कारण बन गई हैं। पिछले दिनों ‘वन्स अपऑन अ टाइम इन मुंबई 2’ की शूटिंग के दरम्यान उन से कुछ बातें हुईं।
- एक और कामयाबी ़ ़ ़ सारी आशंकाओं के बावजूद ‘सन ऑफ सरदार’ 100 करोड़ क्लब में आ ही गई। कैसा महसूस कर रही हैं?
0 हम सभी ने बहुत मेहनत और दिल लगा कर काम किया था। ‘सन ऑफ सरदार’ के लिए फिल्म इंडस्ट्री और दर्शकों के बीच शुरू से ही पॉजीटिव फीलिंग थी। फिल्म बनते समय अच्छी बातें सुनने को मिलने लगे तो हमारा जोश बढ़ जाता है। जैसी उम्मीद थी, फिल्म उससे ज्यादा चली।
- रिलीज के समय थोड़ा विवाद हो गया था। क्या उससे सफलता का स्वाद खट्टा हुआ?
0 यह तो हर फिल्म के साथ होता है। जब भी दो फिल्में एक साथ रिलीज होती हैं तो इस ढंग की बातें सुनने को मिलती हैं। सारी फिल्मों को सोलो रिलीज नहीं मिल सकती। मुझे लगता है कि मीडिया ने इस क्लैश को ज्यादा फ्लैश किया। उन्हें खूब इंटरेस्टिंग सुर्खियां मिलीं। मीडिया को लिखने-दिखाने के मिल गया और - इस सफलता ने सोनाक्षी सिन्हा पर क्या प्रभाव डाला?
0 कुछ भी नहीं। ‘दबंग’ के समय और उसके पहले से मैं आप से मिलती रही हूं। क्या आप ने मुझ में कोई बदलाव महसूस किया? मैं ऐसे परिवार से आती हूं, जिसने सफलता का खूब स्वाद चखा है। आप देख ही रहे हैं कि मैं लगातार शूटिंग कर रही हूं। मैं अपने काम में बिजी हूं। मुझे अच्छा लगता है काम करना। मैं एकदम नॉर्मल हूं। इसके आगे मैं सोचती नहीं हूं। कौन जाने कल क्या हो? पहली फिल्म ‘दबंग’ करते समय मुझे कहां पता था कि फिल्म का क्या होगा?
- ‘दबंग 2’ की क्या तैयारी है?
0 मैं रज्जो का ही किरदार निभा रही हूं। पिछली ‘दबंग’ में वह शादीशुदा नहीं थी। सेकेंड हाफ में शादी की बात हुई थी। ‘दबंग 2’ में रज्जो की शादीशुदा जिंदगी रहेगी। इन दिनों फिल्मों में शादीशुदा जोड़ों का रोमांस नहीं दिखाई पड़ता। मैंने इसमें मैच्योर रोमांस का प्रदर्शन किया है।
- अभी आपकी उम्र ही क्या है? आप पर्दे पर शादीशुदा जोड़े का रोमांस जाहिर करेंगी।
0 मैं पच्चीस की हो चुकी हूं। कानूनी तौर पर शादी करने की उम्र तो हो ही गई है। बस कर लिया मैंने। पर्दे पर बहुत क्यूट लगूंगी। मुझे लगता है कि मेरे प्रशंसक इस रोल में मुझे देख कर बहुत खुश होंगे।
- चुलबुल पांडे ‘दबंग 2’ में कितने चुलबुले हुए हैं?
0 बहुत ज्यादा। ‘दबंग’ में जितने थे,उससे दोगुने हो गए हैं। ‘दबंग 2’ में सबकुछ डबल है। डबल मजा, डबल हयूमर, डबल एक्शन एवरीथिंग। इस बार तो हंसते-हंसते लोगों की दाढ़ें गिर जाएगी। सलमान खान ने चुलबुल पांडे को और ज्यादा नटखट बना दिया है।
- अरबाज के साथ कैसा अनुभव रहा?
0 उनकी यह पहली फिल्म है। जब से उनका नाम आया मैं तभी से कह रही हूं कि आपको डायरेक्शन तो बहुत पहले से शुरू कर देना चाहिए था। वे बहुत नैचुरल डायरेक्टर हैं। उन्हें अपनी रिक्वायरमेंट मालूम रहती है। यह तभी होता है जब पूरी फिल्म आपके दिमाग में हो।
- ‘जोकर’ के बारे में क्या कहेंगी?
0 फिल्म आई और चली गई। मुझे मायूस होने का समय भी नहीं मिला। मैं उन दिनों ‘सन ऑफ सरदार’ की शूटिंग कर रही थी। वह फिल्म मेरे बायोडाटा में रहेगी। दरअसल कोई नहीं जानता कि उसकी अगली फिल्म का फ्यूचर क्या होगा।
- आप पिछले दिनों पटना गई थीं। कैसा अनुभव रहा?
0 बहुत अच्छा। उम्मीद से ज्यादा जोरदार स्वागत हुआ। एअरपोर्ट से ही भीड़ लग गई थी।  शुक्र है कि पापा साथ में थे। उन्होंने सिक्युरिटी का पुख्ता इंतजाम किया था। वरना शहर में चलना मुश्किल हो जाता। हमलोग पटना साहिब भी गए। वहां भी माथा टेका। प्रेस कान्फ्रेंस भी बहुत अच्छा रहा। किसी ने पूछा कि आप इतने सालों के बाद क्यों आई हैं? मेरा यही जवाब था कि पटना मेरा घर है। घर आने की किसी की अनुमति तो नहीं लेनी पड़ती। आप सभी जानते हैं कि मैं लगातार फिल्में कर रही हूं। बिहारी बाबू की बेटी होने के कारण मुझे बिहार जैसा प्रेम कहीं और से नहीं मिलता।
- अभी आप ‘वन्स अपऑन ए टाइम ए मुंबई 2’ की शूटिंग कर रही हैं। यह तो आप की अभी तक की सभी फिल्मों से अलग है?
0 हां, यह परफारमेंस की मांग करता है। इस फिल्म की कहानी बहुत अच्छी है। लोगों ने पहले ही इसे प्यार किया है। अब उसी का सिक्वल बन रहा है। मुझे इतनी जल्दी ऐसी फिल्म का मौका मिलना ही मेरे लिए बड़ी बात है। अक्षय के साथ पहली दो फिल्में तो बहुत ही फनी और मजेदार रही। इस फिल्म में अक्षय का दूसरा रूप दिखाई पड़ रहा है। आप ने अभी मेरा काम देखा। आप बताएं कि कैसी लगी मैं?
- मैं अपनी बात फिल्म देखने के बाद लिखूंगा। फिलहाल बताएं और क्या फिल्में कर रही हैं?
0 इसके बाद मैं ‘बुलेट राजा’ शुरू करूंगी। इन दिनों लखनऊ में सैफ अली खान इस फिल्म की शूटिंग कर रहे हैं। जल्दी ही उन्हें ज्वाइन करूंगी। ‘बुलेट राजा’ के डायरेक्टर तिग्मांशु धूलिया हैं। उसके बाद प्रभु देवा की ‘नमक’ करूंगी। इस फिल्म का नाम बदल भी सकता है। अगले साल ‘लुटेरा’ रिलीज होगी। उसकी शूटिंग पूरी हो गई है।

Comments

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

तो शुरू करें