सलमान छवियां




Comments

वो जो सिंनेमा में दर्शन नहीं खोजते, वो जो सिनेमा में समाजशास्‍त्र की बातें नहीं देखना चाहते हम बात उनकी कर रहे हैं जो सिनेमा के चरित्र में खुद को ढूंढते हैं .......सलमान आम सिनेप्रेमियों का हीरो है ...और यही इसकी यूएसपी है यही इसकी टीआरपी......हमें ये नहीं भूलना चाहिए कि सलमान की फिल्‍मों में सीटियां सबसे ज्‍यादा बजती हैं
....

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

Gr8 Marketing turns Worst Movies into HITs-goutam mishra