Posts

Showing posts with the label शिवम नारायण

शबाना नाम है जिसका- तापसी पन्‍नू

Image
शबाना नाम है जिसका- तापसी पन्‍नू -अजय ब्रह्मात्‍मज तापसी पन्‍नू की ‘नाम शबाना’ भारत की पहली ‘स्पिन ऑफ’ फिल्‍म है। यह प्रीक्‍वल नहीं है। ‘स्पिन ऑफ’ में पिछली फिल्‍म के किसी एक पात्र के बैकग्राउंड में जाना होता है। तापसी पन्‍नू ने ‘नीरज पांडेय’ निर्देशित ‘बेबी’ में शबाना का किरदार निभाया था। उस किरदार को दर्शकों ने पसंद किया था। उन्‍हें लगा था कि इस किरदार के बारे में निर्देयाक को और भी बताना चाहिए था। तापसी कहती हैं,’ दर्शकों की इस मांग और चाहत से ही ‘नाम शबाना’ का खयाल आया। नीरज पांडेय ने ‘बेबी’ के कलाकारों से इसे शेयर किया तो सभी का पॉजीटिव रेस्‍पांस था। इस फिल्‍म में पुराने लीड कलाकार अब कैमियो में हैं। दो नए किरदार जोड़े गए है,जिन्‍हें मनोज बाजपेयी और पृथ्‍वी राज निभा रहे हैं।‘ मनोज बाजपेयी ही मुझे स्‍पॉट कर के एस्‍पीनोज एजेंसी के लिए मुझे रिक्रूट करते हैं।‘ ’नाम शबाना’ की शबाना मुंबई के भिंडी बाजार की निम्‍नमध्‍यवर्गीय मुसलमान परिवार की लड़की है। उसके साथ अतीत में कुछ हुआ है,जिसकी वजह से वह इस कदर अग्रेसिव हो गई है। तापसी उसके स्‍वभाव के बारे में बताती हैं,’ वह कम बोलती है। मेरे स्‍व…

आई एम कलाम-शिवम नारायण

कलाम एक ऐसे बच्‍चे की कहानी है। जो पढ़ नहीं सकता। उसकी मां उसे एक ढ़ाबे पे छोड़ के चली जातीहै। वहां भी कलाम बहुत अच्‍छे काम करता है और कलाम जो चीज को देखता है उसे कभी भूलता नहीं चाहे वह जड़ीबुटियां हो या चाय बनाना। एक दिन कलाम एक राजा के बेटे से दोस्‍ती करता है। कलाम उसे हिन्‍दी सिखाता है और हुकुम का बेटा उसे इंगलिश। इससे ये पता चलता है कि कमाल में कितनी इच्‍छा है पढ़ने की। एक दिन कलाम राष्‍ट्रपति जी अब्‍दुल कलाम जी को टीवी पर देखता है और उसे लगता है कि पढ़ने की कोई उमर नहीं होती और कलाम उनके जैसे बनना चाहता है। पर मुझे पूरी फिल्‍म में कलाम के बोलने का तरीका सबसे अच्‍छा लगा।शिवम नारायण की उम्र 9 साल है। उनसे shivam.narayan14@gmail.com पर बात कर सकते हैं।