Posts

Showing posts with the label लंबी बातचीत

यहां नेटवर्किंग से काम मिलता है आपको, सिर्फ अपने टेलेन्ट से नहीं-इरफान

Image
-अजय ब्रह्मात्‍मज जनपरी-मार्च 2005 के कथाचित्र-3 में इरफान का यह इंटरव्‍यू छपा था। तब उनकी हासिल आई थी। अभी पान सिंह तोमर के बाद इरफान फिर से चर्चा में हैं। उनके पुराने इंटरव्‍यू का ऐतिहासिक महत्‍व है। सात सालों के बाद भी उनके जवाब प्रासंगिक हैं....
इरफान खान से अजय ब्रह्मात्मज की बातचीत- आपके चर्चा में होने की जो ट्रायोलॉजी बन गई है... 0 ट्रायोलॉजी...?- हां, मतलब लोग फिल्मों की ट्रायोलॉजी करते हैं आपके चर्चा में होने की है, तो इसके जो 'हासिल' हैं उसके बारे में...0 जी मेरे लिए भी ये ट्रायोलॉजी है, उम्मीद करता हूं कि ऐसे कुछ प्रोजेक्ट मिलते रहेंगे आगे भी-क्योंकि इस तरह के प्रोजेक्ट लिखे नहीं जाते, 'हासिल' जैसारोल तो मुझे लगता है रेयरली लिखा जाता है। इत्तेफाक से एक के बाद एक मुझे मिल गया, मेरी इसमें कोशिश इतनी ही है कि इतने सालों का मेरा जो इंतजार था शायद वह जस्टीफाई हुआ... और मेरा मानना है कि अगर आपकी कोई इंटेंस डिजायर है और आप उस तरफ काम कर रहे हैं तो एक प्वाइंट के बाद चीजें अपने आप शायद ठीक होने लगती हैं...- लेकिन क्या ऐसा लगता है कि दस साल पहले जा फिल्मों में आपका चुन…