Posts

Showing posts with the label संडे

सितारों का भी होता है संडे

Image
-अजय ब्रह्मात्‍मज खुश हों कि आज नए साल की शुरुआत रविवार से हो रही है। संडे यानी सुकून का डे। देर से उठना, आराम से नाश्ता-पानी करना.. परिवार के जरूरी काम निबटाना, दोस्तों-रिश्तेदारों के घर जाना या उन्हें बुलाना, बीवी/शौहर और बच्चों के साथ फिल्म का प्रोग्राम बनाना। पर क्या आपकी इस छुट्टी को खुशगवार बनाने वाले फिल्म स्टारों की जिंदगी में भी संडे होता है या फिर वे दिन-रात काम में ही मशगूल रहते हैं और उन्हें संडे की भी सुध नहीं रहती?सलमान खान के लिए तो हर दिन संडे होता है। हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में उनकी तरह निश्चिंत और बेफिक्र कोई स्टार नहीं है। अगर रात भर शूटिंग कर रहे हों तो अलग बात है, अन्यथा सलमान खान आराम से दिन के लिए तैयार होते हैं। कई दफा तो मूड सही नहीं रहा तो शूटिंग रद्द करने में उन्हें देरी नहीं होती। सलमान खान आराम और फुर्सत के लिए संडे का इंतजार नहीं करते।इनके विपरीत आप अक्षय कुमार से रविवार को काम नहीं ले सकते। बेटे आरव के जन्म के बाद उन्होंने नियम बनाया कि वे पूरा रविवार बेटे आरव और बीवी ट्विंकल के साथ बिताएंगे। उनकी मां भी साथ रहती हैं तो थोड़ा समय मां के लिए भी रिजर्व रहता …

कॉमेडी, थ्रिलर और एक्शन यानी संडे

-अजय ब्रह्मात्मज

कॉमेडी, थ्रिलर और एक्शन तीनों को उचित मात्रा में मिला कर रोहित शेट्टी ने अपने किरदारों के साथ ऐसा घोला कि एक मनोरंजक फिल्म तैयार हो गई है। रोहित ने पारंपरिक तरीके से एक-एक कर अपने प्रमुख किरदारों को पेश किया है। किरदारों को स्थापित करने के बाद उनके ट्रैक आपस में मिलना शुरू करते हैं। शुरू में एक कंफ्यूजन बनता है, जो इंटरवल तक सस्पेंस में तब्दील हो जाता है।

फिल्म के शुरू में चेजिंग होती है। उस समय हीरो राजवीर चांदनी चौक की गलियों, मुंडेरों और छतों पर दौड़ता-छलांग लगाता दिखाई पड़ता है। फिल्म के अंत में भी चेज है, लेकिन वह कारों में हैं। कारें नाचती हुई पलटती हैं। कारों को उड़ाने, पलटाने और ध्वस्त कराने में रोहित को आनंद आता है।
सहर (आयशा टाकिया) और राजवीर (अजय देवगन) की इस प्रेम कहानी में कुमार (इरफान खान) और बल्लू (अरशद वारसी) भी आते हैं। सहर की जिंदगी से एक संडे मिसिंग है और फिल्म का सस्पेंस इसी संडे से जुड़ा है। इरफान खान ने स्ट्रगलिंग एक्टर का सुंदर काम किया है। आखिरकार वे भोजपुरी फिल्मों के सिंगिंग स्टार बन जाते हैं, लेकिन इस उपलब्धि को छोटी नजर से पेश किया गया है। फिल…