Posts

Showing posts with the label बिग बॉस

तैयार हो रही है एडल्ट शो की जमीन

-अजय ब्रह्मात्‍मज सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के फैसले के मुताबिक 17 नवंबर से बिग बॉस और राखी का फैसला टीवी शो अपने एडल्ट कंटेंट की वजह से रात के ग्यारह बजे के बाद ही प्रसारित होने लगे। स्वाभाविक रूप से इस सरकारी फैसले पर अलग-अलग किस्म की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। एक समूह पूछ रहा है कि क्यों बिग बॉस और राखी का फैसला ही प्राइम टाइम से बाहर किए गए, जबकि कई सीरियलों और दूसरे टीवी शो में आपत्तिजनक एडल्ट कंटेंट होते हैं। अब तो टीवी न्यूज चैनल प्राइम टाइम पर सेक्स सर्वेक्षण तक पेश करते हैं और विस्तार से सेक्स की बदलती धारणाओं और व्यवहार का विश्लेषण करते हैं। ऐसी स्थिति में दो विशेष कार्यक्रमों को चुनकर रात ग्यारह के बाद के स्लॉट में डाल देने को गलत फैसला माना जा रहा है। वहीं दूसरा समूह सरकारी फैसले का समर्थन करते हुए बाकी सीरियल और शो पर भी शिकंजा करने की वकालत कर रहा है। इस समूह के मुताबिक, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर कुछ लोग अश्लीलता परोसते हैं और दर्शकों को उत्तेजित कर अपने शो की टीआरपी बढ़ाते हैं। प्राइम टाइम पर आ रहे इन कार्यक्रमों के दौरान बच्चे जागे रहते हैं, इसलिए उन्हें रात के …

दरअसल:बिग बॉस अमिताभ बच्चन

Image
-अजय ब्रह्मात्मज
लोकप्रियता की ऊंचाई के दिनों में अमिताभ बच्चन की औसत और फ्लॉप फिल्में भी दूसरे हीरो की सफल फिल्मों से ज्यादा बिजनेस करती थीं। शो बिजनेस का पुराना दस्तूर है। यहां जो चलता है, खूब चलता है। अगर कभी रुक या ठहर जाता है, तो फिर उसे कोई नहीं पूछता। अमिताभ बच्चन के करियर में ऐसा दौर भी आया था। अमिताभ बच्चन नाम से फिल्म इंडस्ट्री को एलर्जी हो गई थी, लेकिन मोहब्बतें और कौन बनेगा करोड़पति के बाद वे फिर केंद्र में आ गए। उन्होंने करियर के उत्तरा‌र्द्ध में धमाकेदार मौजूदगी से फिल्म और टीवी के मनोरंजन की परिभाषा बदल दी। मानदंड ऊंचे कर दिए हैं। आज भी उनके व्यक्तित्व का चुंबकीय आकर्षण दर्शकों को अपनी ओर खींचता है। इसीलिए बिग बॉस तृतीय की टीआरपी ने पिछले दोनों सीजन के रिकॉर्ड तोड़ दिए। अब समस्या होगी कि बिग बॉस चतुर्थ की योजना कैसे बनेगी?
अमिताभ बच्चन की लोकप्रिय मौजूदगी और टीआरपी के बावजूद बिग बॉस तृतीय में जोश और रवानी की कमी महसूस हो रही है। 68 साल के हो चुके अमिताभ बच्चन की प्रस्तुति में ढलती उम्र की थकान झलक रही है। टीवी शो में मेजबान का स्वर थोड़ा ऊंचा रहता है और ओवर द बोर्ड परफार…

दरअसल: पॉपुलर नामों के गेम हैं टीवी शो

-अजय ब्रह्मात्मज
पिछले दिनों तेजी से ऊपर आए मनोरंजन चैनल कलर्स ने अमिताभ बच्चन के साथ बिग बॉस के अगले सीजन की घोषणा की है। शो के लिए अमिताभ बच्चन की रजामंदी को कलर्स की बड़ी जीत के रूप में देखा जा रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं कि बिग बॉस आरंभ होने के बाद टीवी के पॉप फिलास्फर बने बिग-बी को सुनने और देखने के लिए इस चैनल पर दर्शक टूट पड़ेंगे। यह भी उम्मीद की जा रही है कि उनकी वजह से इस शो में थोड़े ज्यादा पॉपुलर सेलिब्रिटी हिस्सा लेंगे। वैसे अभी तक किसी प्रतिभागी की आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

कौन बनेगा करोड़पति-2 के बाद अमिताभ बच्चन फिर से टीवी पर लौटे हैं। उनके इस वापसी को एक चक्र के पूर्ण होने के रूप में देखा जा रहा है। बाजार और टीवी अधिकारियों को ऐसा लगता है कि इस बार वे अपनी मौजूदगी से टीवी शो को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। कालांतर में वह ऊंचाई नया मानदंड स्थापित करेगी। टीआरपी और लोकप्रियता की इस होड़ का कोई अंत नहीं दिखता। चैनलों की तरफ से कोशिश जारी है कि वे होड़ में आगे रहें। इसके लिए वे ज्यादा से ज्यादा फिल्मी सेलिब्रिटी का इस्तेमाल कर रहे हैं। टीवी के पुराने दर्शकों को याद होगा। वर्षो …