Posts

Showing posts with the label मनीष पॉल

फिल्‍म समीक्षा : तेरे बिन लादेन-डेड और अलाइव

Image
टुकड़ों में हंसी -अजय ब्रह्मात्‍मज पहली कोशिश मौलिक और आर्गेनिक होती है तो दर्शक उसे सराहते हैं और फिल्‍म से जुड़ कलाकारों और तकनीशियनों की भी तारीफ होती है। अभिषेक शर्मा की 2010 में आई ‘तेरे बिन लादेन’ से अली जफर बतौर एक्‍टर पहचान में आए। स्‍वयं अभिषेक शर्मा की तीक्ष्‍णता नजर आई। उम्‍मीद थी कि ‘तेरे बिन लादेन-डेड और अलाइव’ में वे एक स्‍ता ऊपर जाएंगे और पिछली सराहना से आगे बढ़ेंगे। उनकी ताजा फिलम निराश करती है। युवा फिल्‍मकार अपनी ही पहली कोशिश के भंवर में डूब भी सकते हैं। अभिषेक शर्मा अपने साथ मनीष पॉल को भी ले डूबे हैं। टीवी शो के इस परिचित चेहरे को बेहतरीन अवसर नहीं मिल पा रहे हैं। क्‍या उनके चुनाव में ही दोष है ? ओसामा बिन लादेन की हत्‍या हो चुकी है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति को उसका वीडियो सबूत चाहिए। इस कोशिश में अमेरिकी सीआईए एजेंट ओसामा जैसे दिख रहे अभिनेता पद्दी सिंह के साथ मौत के सिक्‍वेंस शूट करने की प्‍लानिंग करता है। वह निर्देशक शर्मा को इस काम के लिए चुनता है। शर्मा को लगता है कि ‘तेरे बिन लादेन’ का सारा क्रेडिट अली जफर ले गए। इस बार वह खुद को लाइमलाइट में रखना चाहता है। एक स्‍था…

हीरो बन गए मनीष पॉल

Image
-अजय ब्रह्मात्मज
    लंबे समय तक होस्ट, आरजे, एंकर आदि की भूमिकाएं निभाने के बाद मार्च 2012 में अचानक मनीष पॉल को खयाल आया कि अब फिल्मों में एक्टिंग करनी चाहिए। उनके दोस्त रीतिका ने उन्हें डायरेक्टर सौरभ वर्मा से मिलने के लिए कहा। मुलाकात हुई तो सौरभ वर्मा ने अपनी फिल्म ‘मिकी वायरस’ के बारे में बताया। नाम सुनते ही मनीष हंसने लगे। उन्होंने बताया कि मेरे घर का नाम मिकी है। संयोग से मनीष की तरह ही ‘मिकी वायरस’ का मिकी भी दिल्ली के मालवीय नगर इलाके में रहता है। लगे हाथ मनीष ने बिना मांगे ही कुछ इनपुट दे दिए। दस दिनों के बाद सौरभ का फोन आया कि तू मेरी फिल्म कर ले। इस तरह मनीष पॉल को ‘मिकी वायरस’ मिली और अब वह जल्दी ही रिलीज होगी।
- फिल्मों में आने का इरादा कब और कैसे हुआ?
0 मुंबई आया हर अभिनेता कभी न कभी फिल्म करना चाहता है। मुझे आते ही फिल्मों में काम नहीं मिला। पहला काम टीवी में मिला। फिर आरजे का काम मिला। मेरी आदत रही है कि मैं अपने कंफर्ट जोन को खुद ही तोड़ता हूं। फिल्में मिलने से पहले मैं तैयारियों में लगा था। सही समय आया तो फिल्म मिल गई।
- फिल्मों से पहले आपका साबका लाइव ओडिएंस से रहा …