Posts

Showing posts with the label नम्रता राव

बगावत कर फिल्‍मों में आई- नम्रता राव

Image
चवन्‍नी के पाठकों के लिए यह लेख फिल्‍म सिनेमा से साभार लिया गया है।  -गजेन्‍द्र सिंह भाटी  मनीषशर्मा की फ़िल्म ‘शुद्ध देसी रोमैंस’ की एडीटर नम्रता रावइससे पहले उनके साथ ‘बैंड बाजा बारात’ और ‘लेडीज वर्सेज रिकी बहल’ कर चुकीहैं। दिल्ली की नम्रता ने आई.टी. की पढ़ाई और एन.डी.टी.वी. में नौकरी केबाद कोलकाता के सत्यजीत रे फ़िल्म एवं टेलीविज़न संस्थान का रुख़ किया।वहां से फ़िल्म संपादन सीखा। 2008 में दिबाकर बैनर्जी की फ़िल्म ‘ओए लक्की!लक्की ओए!’ से उन्होंने एडिटिंग की शुरुआत की। बाद में ‘इश्किया’, ‘लवसे-क्-स और धोखा’, ‘शंघाई’ और ‘जब तक है जान’ एडिट कीं। ‘कहानी’ मेंसर्वश्रेष्ठ फिल्म संपादन के लिए उन्हें इस साल 60वां राष्ट्रीय फिल्मपुरस्कार दिया गया। फ़िल्म संपादन में रुचि रखने वाले युवाओं के लिए यहसाक्षात्कार उपयोगी हो सकता है। जिन्हें रुचि नहीं भी है और फ़िल्म बनानेकी कला को चाव से देखते हैं वे भी पढ़ते हुए नया परिपेक्ष्य पाएंगे।प्रस्तुत है नम्रता राव से विस्तृत बातचीतः

कहां जन्म हुआ? बचपन कैसा था? घर व आसपास का माहौल कैसा था?
त्रिवेंद्रम, कोचीन में हुआ जन्म। मैं कोंकणी हूं। केरल में ही हमारा घरह…