Posts

Showing posts with the label दीप्ति नवल

फिल्‍म समीक्षा : लिसेन अमाया

Image
रिश्तों का नया समीकरण -अजय ब्रह्मात्‍मज  बदलते समाज में भावनाएं, संबंध और हम सभी के आसपास की जिंदगी तेजी से बदल रही है। विधुर या विधवा होने के बाद जिंदगी में अकेला पड़ गया व्यक्ति कई बार दूसरों के प्रति आकर्षण महसूस करता है, लेकिन सामाजिक दबाव और घरेलू जिम्मेदारियों के बीच वह प्रिय व्यक्ति के साथ नहीं रह पाता। समाज और बच्चे अपने माता-पिता के नए संबंधों को सहजता से नहीं ले पाते। अमाया तेज, समझदार और आज की लड़की है। पिता के न रहने के बाद वह अपनी मां लीला के साथ बेहतरीन जिंदगी जी रही है। दोनों के रिश्ते मधुर और भरोसे के हैं। उनके बीच खुली बातचीत होती है, लेकिन मां की जिंदगी में आए जयंत सिन्हा को देखते ही अमाया बिखर और बिफर जाती है। लीला स्वावलंबी मां है। पति के निधन के बाद उन्होंने अमाया को अकेले ही पाला है। जीवन के महत्वूपर्ण साल उन्होंने अमाया की देखभाल में बिताया है। वह 'बुक ए कॉफी' नाम से एक कैफे भी चलाती हैं। निजी देख-रेख और सेवा की वजह से उनका कैफे सभी के बीच लोकप्रिय है। इसी कैफे में फोटोग्राफर जयंत सिन्हा से लीला की मुलाकात होती है। वे विधुर हैं। दोनों करीब …