Posts

Showing posts with the label बॉम्‍बे वेल्‍वेट के गीत

बॉम्‍बे वेल्‍वेट के गीत - धड़ाम धड़ाम

Image
धड़ाम धड़ाम
दवा ना काम आए दुआ बचा न पाए  सिर्फ हाय... 
धड़कनें गूंजती 
धड़ाम धड़ाम
दर-ब-दर घूमतीं 
धड़ाम धड़ाम
धड़कनें गूंजतीं 
धड़ाम धड़ाम
मलाल में....

हम पे बीती है जो भी 
कहना चाहते थे हम 
क्‍यों चुप रहने की तुम ने 
खामखां में दी कसम  
अब है गिला तुम्‍हें 
हम ने दगा तुम्‍हें 
है दिया जान के क़दम क़दम 
इल्‍ज़ाम ये हम पे है 
सितम सितम...
धड़कनें गूंजतीं 
धड़ाम धड़ाम
मलाल में...


तुम रुठे तो हम टूटे  इतने हम क़रीब हैं  हारे तुम को तो समझे  कितने हम ग़रीब हैं 

हम सहरा की तरह 

तुम बादल हो मेरा
बारिशें ढूंढतीं
धड़ाम धड़ाम
धड़कनें गूंजती 
धड़ाम धड़ाम
दर-ब-दर घूमतीं 
धड़ाम धड़ाम
धड़कनें गूंजतीं 
धड़ाम धड़ाम
मलाल में....

धड़कनें  धड़ाम धड़ाम
गूंज के धड़ाम धड़ाम

बॉम्‍बे वेल्‍वेट के गीत - क ख ग

Image
क ख ग

ऐ तुम से मिली  तो प्‍यार का  सीखा है क ख ग घ  ऐ, समझो ना  क्‍यों प्‍यार का  उल्‍टा है क ख ग घ  क्‍यो जो दर्द दे  तड़पाए भी  लगता है प्‍यारा वही  क्‍यों टूटे ये दिल  कहलाए दिल तभी 
तैरने की जो कोशिशें करे  काहे डूब जाता है  सब भुला के जो डूब जाए क्‍यों  वही तैर पाता है   जो हर खेल में जीता यहां दिलबर से हारा वो भी  क्‍यों टूटे ये दिल  कहलाए दिल तभी 
ऐ तुम से मिली  तो प्‍यार का  सीखा है क ख ग घ  ऐ, समझो ना  क्‍यों प्‍यार का  उल्‍टा है क ख ग घ



धत्‍त तेरी  इसकी हर सज़ा क़बूल है जिसे  यहां वही...वही बरी हुआ है  इस पे जो मुक़द्दमा करे अजी वही ...वही मरा है  बताओ क्‍यों इस जेल से  भागा है जो  दोबारा लौटा वो भी  क्‍यों टूटे ये दिल
कहलाए दिल तभी 
ऐ तुम से मिली  तो प्‍यार का  सीखा है क ख ग घ  ऐ, समझो ना  क्‍यों प्‍यार का  उल्‍टा है क ख ग घ



बॉम्‍बे वेल्‍वेट के गीत -मोहब्‍बत बुरी बीमारी

Image
मोहब्‍बत बुरी बीमारी लगी तूझे तो तेरी जि़म्‍मेदारी मोहब्‍बत बुरी बीमारी ये बेरहम जिसको काटे पानी नहीं दारू वो मांगे महबूब की तस्‍वीर टांगे लगती है हल्‍की पड़ती है भारी मोहब्‍बत बुरी बीमारी
छूने से होती नहीं ये नज़रों के रस्‍ते से आए झगड़ा है इसका अक़ल से मासूम दिल पे क़ब्‍ज़ा जमाए सूरत से भोली नियत शिकारी मोहब्‍बत बुरी बीमारी