Posts

Showing posts with the label शमिताभ

पिडली सी बातें क्‍यों करती हो शरमा के

जोश की न उम्र होती है और न उत्‍साह की कोई वय
अमिताभ ने गाया शमिताभ में दिया पिडली को लय ।





Piddly si baatein, kyun karti ho sharma ke पिडली सी बातें क्‍यों करती हो शरमा के
Piddly si baatein पिडली सी बातें
Piddly ye raatein, main sach karun aate jaate पिडली ये रातें,मैं सच करूं आते जाते
Piddly ye raatein पिडली ये रातें Pagla hoon yaar, pagla hai pyar पगला हूं यार,पगला है प्‍यार
Aise hi chalta hai ye kaarobaar ऐसे ही चलता है ये कारोबार
Pyar ke saaye mein sab piddly hai yahan प्‍यार के साए में सब पिडली है यहां Piddly si baatein, kyun karti ho sharma ke पिडली सी बातें,क्‍यों करती हो शरमा के
Piddly si baatein पिडली सी बातें  Khili khili soorat teri, खिली खिली सूरत तेरी
Uske aage sab hai piddly piddly उसके आगे सब है पिडली पिडली
Mili mili, aisi khushi मिली मिली ऐसी खुशी
Iske aage sab hai piddly piddly इसके आगे सब है पिडली पिडली Lipte lifaafe mein jo likhi hai marziyaan लिपटे लिफाफे में जो लिखी हैं मर्जि़यां
Chupke se sun ne mein hi hai maza चुपके से सुनने में ही है मज़ा
Lafzon ke kabze mein jo chupi hai ch…