Posts

Showing posts with the label शिकार हैं तो प्रतिकार करें

रोज़ाना : शिकार हैं तो प्रतिकार करें

Image
रोज़ाना शिकार हैं तो प्रतिकार करें -अजय ब्रह्मात्‍मज
समाजमें सामाजिक और आर्थिक असमानता हो तो शोषण और शिकार आम बात हो जाती है।समाज के विभिन्न क्षेत्रों के प्रभावशाली समूह अपना वर्चस्व बनाये रखने केलिए हर तरह के उपाय करते हैं। वे दमन और दबाव की नीति-रणनीति अपनाते हैं।हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में भी यह आम है। खास कर बाहर से आये कलाकारों केप्रति फ़िल्म इंडस्ट्री के इनसाइडर का यह रवैया दिखता है। कुछ महीनों सेकंगना रनोट के खिलाफ चल रहे बयानों पर गौर करें तो स्पष्ट हो जाएगा।ज्यादातर तिलमिलाये हुए हैं। फ़िल्म इंडस्ट्री में जारी वंशवाद को वे दबीजबान से स्वीकार करते हैं। मझोले स्टार तो कंगना के समर्थन करने के बाद कहदेते हैं कि क्यों हमें घसीट रहे हैं। हम तो उसके कैम्प के हैं,जो हमें कामदे। कंगना रनोटकी बातों में दम है। पिछले दिनोंउन्होंने दोहराया कि वह आगे भी कुछ लोगों के अहम पर चोट करती रहेंगी।होतायूं है कि किसी ताकतवर की बात न मानो,प्रतिकार करो या सवाल करो तो उनका अहमघायल हो जाता है।फ़िल्म इंडस्ट्री में भी जी हुजूरी चलती है। हैं में हैंमिलते रहो और आगे बढ़ते रहो। कंगना ने तो सीधे आरोप लगा दिए थे और वह भी…