Search This Blog

Tuesday, February 27, 2018

श्री देवी की सर्वाधिक लोकप्रिय फिल्‍म 'सदमा'



श्री देवी की सर्वाधिक लोकप्रिय फिल्‍म
-अजय ब्रह्मात्‍मज
मैंने श्री देवी के आकस्मिक निधन की खबर आने के बाद फेसबुक के मित्रों से पूछा था कि श्री देवी की उनकी पसंदीदा फिल्‍म कौन सी है। मुझे 255 एंट्री मिली। मैंने गौर किया कि उनकी पॉपुलर फिल्‍मों की सूची में उनकी दक्षिण भारत की फिल्‍में नहीं है। केवल एक मित्र सूर्यन मौर्या ने एक तमिल फिल्‍म ‘पतिनारु वयाथिनिले का नाम लिया था। मैं जोर देकर यह बात दोहराना चाहता हूं कि सिनेप्रेमी और श्री देवी के हिंदी प्रशंसक उनकी तमिल और तेलुगू की फिल्‍में जरूर देखें। इस साल आयोजित होने वाले फिल्‍म फेस्टिवलों के निदेशकों से मेरा आग्रह रहेगा कि वे श्री देवी की फिल्‍मों के पुनरवालोकन में उनकी दक्षिण भारतीय फिल्‍में अवश्‍य दिखाएं। हिंदी फिल्‍मों में उनकी ख्‍याति कमर्शियल फिल्‍मों के स्‍टार के तौर पर है। उनकी उपलब्धि यह नहीं है कि उन्‍हें ‘लेडी अमिताभ’ कहा गया। उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि और जिसे रेखांकित भी किया जाना चाहिए कि 54 साल की उम्र में ही उनका फिल्‍म करिअर 50 सालों का रहा। पांच दशकों का फिल्‍म करिअर सहज और आसान नहीं है। बहरहाल,मेरे सर्वेक्षण में आई 255 एंट्री में सबसे अधिक मत ‘सदमा’ को मिले। इसे 47 एंट्री मिली। दूसरे नंबर पर ‘लमहे’ रहीं। इसे 29 एंट्री मिली। तीसरे नंबर पर दो फिल्‍में हैं – ‘चालबाज’ और ‘इंग्लिश विंग्लिश’। चौथे नंबर पर आई ‘चांदनी’ और ‘मिस्‍टर इंडिया’ को 21-21 एंट्री मिली। पांचवें नंबर की ‘मॉम’ को कुल 10 एंट्री मिली।
हम माते हैं आम दर्शकों की पसंद आम ही होती है। मेरे मित्र आम ही हैं। उनकी पसंद पर गौर करें तो उन्‍होंने श्री देवी की बेहतरीन फिल्‍में ही पसंद की हैं।
1. सदमा
2. लम्‍हे
3. इंग्लिश विग्लिश, चालबाज
4. चांदनी, मिस्‍टर इंडिया

5. मॉम
 


No comments: