एकलव्य ही गयी ऑस्कर

ऑस्कर से जारी सूची में एकलव्य शामिल है.
देश में ऑस्कर को लेकर चल रहा विवाद घिनौने स्तर तक पहुंच गया था.मामला कोर्ट तक गया.चवन्नी नही समझ पा रहा है कि क्यों हर बार कोई भी पुरस्कार,सम्मान और प्रतिष्ठा को पहले शक की निगाह से देखा जाता है.उस पर सवाल उठाये जाते हैं.विवाद खडा होता है.कुल मिला कर स्वाद खट्टा हो जाता है.अब एकलव्य का ही प्रसंग लें.इस पर ऐसे विवाद की कोई ज़रूरत नही थी.इसके साथ यह भी ज़रूरी है की हर समिति पारदर्शी तरीके से काम करे.शक-ओ-शुबहा कि गुंजाइश ही क्यों हो?
बहहाल,एकलव्य ऑस्कर कि सूची में पहुंच गयी है.फिल्म के निर्देशल विधु विनोद चोपडा के लिए यह खुशी और जिम्मेदारी का मौका है.अब वे अपनी पूरी ताकात लगाएं और इस बात की कोशिश करें कि एकलव्य ज्यूरी के सारे सदस्य देखें.ऑस्कर में जम कर प्रचार करना पड़ता है.विधु को कुछ दिनों के लिए वहीँ डेरा डालना होगा.चवन्नी भी चाहेगा कि उसके देश की फिल्म पहले नामांकन सूची में पहुंचे और फिर पुरस्कार भी हासिल करे.चवन्नी की शुभकामनायें विधु और एकलव्य के साथ हैं।
ऑस्कर की विदेशी भाषा की श्रेणी में ग़ैर अंग्रेजी फ़िल्में भेजी जाती हैं.halanki चवन्नी के देश में दुनिया की सबसे ज्यादा फ़िल्में बनती हैं,लेकिन अभी तक किसी भारतीय फिल्म को यह पुरस्कार नही मिला है.इस शाल भारत की एकलव्य समेत ६३ देशों की फ़िल्में इस पुरस्कार के लिए स्वीकृत हुई हैं.प्रतियोगिता कठिन है,क्यों कि उन सभी देशों की भी फ़िल्में हैं,जो अभी तक पुरस्कार लेती रही हैं.कहना मुश्किल नही है कि परिणाम क्या होगा?
अरे हाँ!यह याद रखियेगा कि यह खबर सबसे पहले चवन्नी ने आप को दी.

Comments

Anonymous said…
shukriya is khabar ke liye.mujhe to nahi lagta ki eklavya aakhiri five tak bhi pahunch payegi.i mean nominate ho payegi.
Anonymous said…
धन्यवाद चवन्नी.हां ,मैं याद रखूंगी कि तुम ने सबसे पहले यह खबर दी.
Unknown said…
18 अक्टूबर 2007
जोश 18 संवाददाता

मुम्बई। भारत में भले ही ‘एकलव्य: द रॉयल गार्ड’ को ऑस्कर में सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म वर्ग में भेजे जाने पर विवाद अभी थमा न हो, लेकिन इसे 80वें एकेडमी एवॉर्ड्स के लिए आधिकारिक रुप से भारत की ओर से भेजी गई फिल्म के रूप में दिखाया जा रहा है।

एक इंटरनेट ब्लॉग ‘http://chavannichap.blogspot.com’ से इस संबंध में जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म ‘एकलव्य: द रॉयल गार्ड’ उन 63 फिल्मों में शामिल है, जिन्हें इस बार ‘सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म’ वर्ग में चुना गया है।

ऑस्कर पुरस्कार प्रदान करने वाली ‘एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंस’ ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट ‘www.oscars.org’ पर जो 63 विदेशी फिल्मों की सूची जारी की है, उसमें भारत की ओर ‘एकलव्य: द रॉयल गार्ड’ भी शामिल है।

गौरतलब है कि भारत में ‘एकलव्य’ को ऑस्कर में भेजे जाने को लेकर विवाद है और मामला मुम्बई उच्च न्यायालय में विचाराधीन है। इस बात की पूरी संभावना है कि मुम्बई उच्च न्यायालय इस मामले में आज अपना फैसाला सुना सकता है।
Udan Tashtari said…
चलिये, आपसे मिला यह समाचार.
Unknown said…
Hme afsos hota hai ki yaha koi 'Like' button nhi hai.

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

Gr8 Marketing turns Worst Movies into HITs-goutam mishra