दरअसल : महज शुरुआत है यह


-अजय ब्रह्मात्मज
    कट्रीना कैफ ने पिछले दिनों मीडिया के नाम एक पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंने हाल में छपी अपनी तस्वीरों पर दुख और निराशा जाहिर की। उन्हें लग रहा है कि मीडिया ने उनकी जिंदगी में घुसपैठ की है। बड़ी सफाई से उन्होंने फिल्म पत्रकारिता में ऐसे नस्ल का जिक्र किया है, जो फिल्मी हस्तियों के शिकार की हर बुरी कोशिश करते हैं। वे निजता और शिष्टता की हर लक्ष्मण रेखा पार कर जाते हैं। मामला इतना भर है कि कट्रीना कैफ अपने नए प्रेमी रणबीर कपूर के साथ स्पेन के किसी समुद्रतट पर छुट्टियां मना रही थीं। वहां किसी ने उन दोनों की तस्वीर उतारी और उसे भारत की एक फिल्मी पत्रिका के पास भेज दिया। उस पत्रिका में तस्वीर छपते ही सभी पत्र-पत्रिकाओं और वेब साइटों पर यही खबर थी कि रणबीर कपूर और कट्रीना कैफ एक साथ देखे गए। चूंकि खुद फिल्म इंडस्ट्री बिकिनी को प्रचार की वस्तु बनाती है, इसलिए इस खबर में इस पर भी जारे था कि वह बिकिनी में थीं।
    लगभग एक दशक से हिंदी फिल्मों में सक्रिय कट्रीना कैफ ने धीरे-धीरे केन्द्र में जगह बनाई है। अभी वह देश की सफल अभिनेत्रियों की पहली कतार में हैं। यहां तक पहुंचने में सलमान से उनकी नजदीकी एक बड़ा कारण रही है। दोनों ने कभी मीडिया के सामने संयुक्त या व्यक्तिगत रूप में कमिटमेंट की बात नहीं की। सलमान तो हमेशा मजाक उड़ाते और हंसी में टालते रहे। कट्रीना कैफ की तरफ से भी स्वीकारोक्ति नहीं मिली। उन सारे इंटरव्यू को गौर से देखें तो इस सवाल से कट्रीना की वितृष्णा साफ झलकती है। फिल्म इंडस्ट्री में सभी कहते हैं कि कट्रीना कैफ ने सलमान खान के रसूख का इस्तेमाल किया। यह दोनों के बीच की बात है। इस से किसी और को क्या फर्क पड़ेगा? कट्रीना कैफ अपने करिअर के मामले में स्पष्ट रहीं और आज सफल हैं। हालांकि पिछले एक साल से प्रेम और भावना की अस्थिरता और तलाश में उनका करिअर डगमगा गया है। वह पिछड़ भी गई हैं।
    बहरहाल, मुद्दा फिल्मी हस्तियों की प्रायवेसी का है। इस संदर्भ में अमिताभ बच्चन हमेशा अपने ब्लॉग और ट्विट पर लिखते रहे हैं कि हम ने अपनी मर्जी से यह पेशा चुना है। इस पेशे में निहित है निजता की अवहेलना ...हमें तैयार रहना चाहिए। कट्रीना कैफ को अच्छी तरह समझना चाहिए कि किसी सार्वजनिक स्थान पर उतारी गई किसी फिल्मी हस्ती की तस्वीर उसकी निजता का हनन नही है। अपनी निजता का एहसास फिल्मी हस्तियों को उन क्षणों में होता है, जब उनके अनचाहे कोई तस्वीर आ जाती है। अगर निजता की ऐसी ही चिंता है तो उन्हें प्रायवेट समुद्रतट पर सुरक्षा इंतजाम के बीच मौज-मस्ती करनी चाहिए। ऐसे भी चार-छह बाउंसर तो हमेशा साथ में रहते हैं। ये तस्वीरें किसी ने उनके कमरे में जाकर नहीं उतारी है और न ही उनके अंतरंग पलों को उजागर किया है। ...
    फिल्मी हस्तियों का रहस्य खत्म होता जा रहा है। अगर फिल्मी हस्तियां मीडिया से वैर भाव रखेंगी तो मीडिया उनके प्रति अधिक आक्रामक होगा। यह अत्यंत स्वाभाविक है। रणबीर कपूर से अपनी दोस्ती की कट्रीना कैफ सार्वजनिक कर दें तो किसी को उनके पीछे पडऩे की जरूरत ही नहीं होगी। और यह भी तो सवाल उठता है कि क्या इन तस्वीरों से सिर्फ कट्रीना कैफ की प्रायवेसी में घुसपैठ हुई? उस तस्वीर में रणबीर कपूर भी थे। उन्हें तो काई फर्क नहीं पड़ा। वे श्रीलंका में अनुराग कश्यप के साथ ‘बांबे वेलवेट’ की शूटिंग कर रहे हैं। खबर तो यह भी थी कि कट्रीना कैफ श्रीलंका पहुंची थीं।
    वह समय गया, जब दुनिया से छिपने की जरूरत थी। अब तो आलिंगन और चुंबन के दृश्यों को भी पर्दे पर दिखाया जाता है। फूल नहीं टकराते। फिर वास्तविक जिंदगी में कैसा दुराव-छिपाव। और अभी तो मीडिया हाथ धोकर पीछे नहीं पड़ा है। फिल्मी हस्तियां मीडिया से संपर्क और रिश्ते में पश्चिम का अनुप्रयोग कर रही है तो उन्हें भविष्य में पापैराजी के लिए भी तैयार रहना होगा। यह तो महज शुरुआत है।



Comments

M Raj Live said…
This comment has been removed by the author.

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

Gr8 Marketing turns Worst Movies into HITs-goutam mishra