धन्य हैं देव साहेब!


देव साहेब धन्य हैं.उनका निमंत्रण पत्र आया है.एसएमएस और ईमेल के ज़माने में उनहोंने हाथ से लिखा पत्र भेजा है.हाँ ,तकनीकी सुविधा का फायदा उठा कर उनहोंने यह पत्र स्कैन करवा कर भेजा है.आप इस पत्र को यहाँ पढ़ सकते हैं.चवन्नी ७ की शाम को बतायेगा कि उनहोंने चाय पर क्यों बुलाया था.उनकी सादगी देखिए,लिख रहे हैं अपने साथ चाय पीने का सौभाग्य दीजिए.

Comments

बधाई!!
विवरण दीजिएगा
Anonymous said…
ऐसी सादगी पुराने लोगों में ही बची है.देव साहेब के बारे में कुद भी जानना और सुनना अच्छा लगेगा.
Ravi Shekhar said…
kitane chavanniyon ko itana subhagya milata hoga. badhai ho
Anonymous said…
देव मस्त कलंदर हैं. अलहदा शख़्सियत.. चाय पीने के बाद बताना क्या कहा.. अलहदा बातें.. उसी नज़र से जैसे कि ये छापते वक़्त दौड़ाई थी.
ePandit said…
बधाई आपको विवरण देना न भूलिएगा।

देव साहब का हस्तलेख भी बहुत सुन्दर है।
Rajendra said…
देव साहब का क्या कहना. हिंदी फ़िल्मों का अनोखा सितारा. कृष्णा शाह क़ी फ़िल्म सिनेमा सिनेमा में देव साहब के जादू को बहुत ही बेहतरीन ढंग से प्रस्तुत किया गाया था. यह फ़िल्म सिनेमा की विकास यात्रा की कहानी कहती है. उसमे एक दृश्य है जिसमे सिनेमा हाल मे एक दर्शक झूम के कहता है +देव साहब आप यूँ ही फ़िल्में बनाते रहिए और हम यूँ ही देखने आते रहेंगे+.
देव आनंद का अभी सही मूल्यांकन होना है. उनके कॅंट्रिब्यूशॅन को बाद मे खोजा जाएगा जैसा गुरुदत्त के साथ हुआ.
आपकी पोस्ट का इंतेज़ार रहेगा.
Congratulations.Waiting for details.

Popular posts from this blog

लोग मुझे भूल जायेंगे,बाबूजी को याद रखेंगे,क्योंकि उन्होंने साहित्य रचा है -अमिताभ बच्चन

फिल्‍म समीक्षा : एंग्री इंडियन गॉडेसेस

Gr8 Marketing turns Worst Movies into HITs-goutam mishra